The Top Ten in

Wiki, Biography, Age, Family,Wife, Hidden of Celebrities , Motivational, Education and Brands

Uttar pradesh solar pump yojana 2018, online registration, Application form

Uttar pradesh solar pump yojana, up solar pump yojana online registration, up solar pump yojana registration, up solar pump yojana application form download, up cm solar pump,Uttar pradesh solar pump yojana online registration,  solar pump subsidy in up 2018, mukhyamantri solar pump yojana up registration, pradhan mantri solar pump yojana up, up cm solar pump yojana

उत्तर प्रदेश सोलर पंप योजना ऑनलाइन पंजीकरण / up solar pump yojana online registration

 

Uttar pradesh solar pump yojana : बिजली के अभाव में पानी की समस्या से जूझ रहे किसान मामूली खर्च पर अपने खेतों में सोलर पंप लगा सकते हैं। इस सोलर पंप के जरिए किसान रोजाना आठ घंटे तक खेत में पानी देने का काम कर सकते हैं।

बिजली या डीजल पंप के मुकाबले सोलर पंप काफी सस्ता है और सोलर पंप को लगाने के लिए नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (एमएनआरई) की तरफ से सब्सिडी भी दी जा रही है। एमएनआरई की तरफ से किसानों को 5 एचपी वाले पंप के लिए लागत की 30 फीसदी तक की सब्सिडी दी जा रही है, वहीं अधिकतर राज्यों की तरफ से सोलर पंप के लिए 50 फीसदी की सब्सिडी मिल रही है।

Uttar pradesh solar pump yojana : एमएनआरई के पैनल में शामिल सोलर पंप निर्माता कंपनी रोटोमैग के निदेशक, राघव अग्रवाल कहते हैं कि खेतों में पानी देने के लिए 5 एचपी का पंप पूर्ण सक्षम होता है। इसकी लागत 5.5 लाख रुपये आती है और किसानों को लागत की सिर्फ 20 फीसदी राशि का इंतजाम करना होता है।

बाकी की रकम का इंतजाम केंद्र व राज्य की सब्सिडी से हो जाता है। उन्होंने बताया कि 5 एचपी के पंप से 70-75 हजार लीटर पानी निकाला जा सकता है जो कि खेतों के लिए पर्याप्त है। नबार्ड से संपर्क करने पर किसानों को 20 फीसदी की रकम भी कर्ज के रूप में मिल जाती है।

Uttar pradesh solar pump yojana 2018, online registration, Application form

Uttar pradesh solar pump yojana

उत्तर प्रदेश सोलर पंप योजना ज़रूरी दस्तावेज़/ Uttar pradesh solar pump yojana

  1. बॅंक पासबुक
  2. पहचान पत्र की कॉपी
  3. किसानो को पंजीकरण करने के लिए असली दस्तावाज़ की कॉपी

उत्तर प्रदेश सोलर पंप योजना के लाभ / Uttar pradesh solar pump yojana

  1. उद्देश्य – सब्सिडी के तहत सौर संचालित पंपों को वितरित करने के लिए योजना को लागू करने के लिए सरकार का मुख्य उद्देश्य देश के किसानों को उनकी कृषि भूमि से बेहतर आय उत्पन्न करने की कोशिश करना और उनकी सहायता करना है। पंप किसानों को बहुत सस्ते कीमत पर सिंचाई के लिए बिजली उत्पन्न करने के विकल्प प्रदान करेंगे। यदि किसान अधिक बिजली उत्पन्न करते हैं तो वे इसे वापस बिजली बोर्ड में बेच सकते हैं और अतिरिक्त आय उत्पन्न कर सकते हैं।
  2. लाभ – इस योजना को शुरू में सरकार द्वारा पायलट परियोजना के रूप में देश के अधिकांश ग्रामीण हिस्सों के साथ शुरू किया गया था। इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा किसानों को 30 प्रतिशत सब्सिडी के साथ भी पेश किया गया था। चूंकि प्रक्रिया के कार्यान्वयन को अब व्यापक मंच के तहत पेश किया जा रहा है, इसलिए सरकार ने कुसुम योजना के तहत 60 प्रतिशत सब्सिडी देने की घोषणा की है। केंद्रीय और राज्य सरकार द्वारा किसानों को सब्सिडी की पेशकश की जाएगी। किसान से बिजली खरीदने वाली डिस्कॉम को योजना के तहत प्रोत्साहन प्रस्ताव भी प्रदान किया जाएगा।
  3. क्षमता – इस योजना को लागू करने में मदद करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार 10 वर्षों की अवधि में 28250 मेगावॉट से अधिक सौर संचालित पंपों के उत्पादन के लिए 48000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी।
  4. निर्दिष्टीकरण – योजना चार चरणों में लागू की जाएगी। पहला चरण देश के भीतर संख्या में 17.5 लाख निर्मित पंपों के वितरण की प्रक्रिया है। अगला चरण पूरे देश में विभिन्न कृषि भूमि के भीतर 10,000 मेगावॉट क्षमता के ग्रिड संयंत्रों की स्थापना के संबंध में होगा। अगले चरण में एएच सरकार 8250 मेगावॉट क्षमता की ट्यूब कुएं की कोशिश करेगी और आखिरी चरण में सरकार अन्य पंपों को सौरसा करेगी जिनका उपयोग किसानों द्वारा 7250 मेगावॉट क्षमता के लिए किया जा रहा है।
Uttar pradesh solar pump yojana 2018, online registration, Application form

Uttar pradesh solar pump yojana

 

मुख्यमंत्री सौर पंप योजना पंजीकरण /mukhyamantri solar pump yojana up registration

Uttar pradesh solar pump yojana :उत्तर प्रदेश में सोलर पंप का काम करने वाली कंपनी यूनिलाइन इलेक्ट्रिकल सिस्टम के संस्थापक आरके बंसल कहते हैं कि सोलर पंप से मिलने वाले पानी व बिजली के बचने की वजह से सोलर पंप की लागत तीन साल में निकल आती है, जबकि पंप की अवधि (लाइफ) 25 सालों की होती है।

उन्होंने बताया कि सूर्य की रोशनी आने पर अपने-आप चालू होने वाले पंप भी अब लगाए जा रहे हैं। एमएनआरई के मुताबिक ,देश में सोलर पंप लगाने की काफी गुंजाइश है।

Uttar pradesh solar pump yojana :देश भर में 70 लाख से अधिक डीजल से चलने वाले पंप हैं और 2 करोड़ से अधिक एसी बिजली से चलने वाले पंप हैं। देश भर में अब तक मात्र 50,000 सोलर पंप लगे हैं। ऐसे में अगर डीजल से चलने वाले सभी पंपों को सोलर पंप में बदल दिया जाए तो बिजली की बचत के साथ किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी और पर्यावरण की भी रक्षा होगी।

अग्रवाल कहते हैं कि बिजली के अभाव में किसान खेतों में पानी नहीं दे पाते हैं, लेकिन सोलर पंप भारतीय खेतों को लहलहाने का काम कर सकता है।

उत्तर प्रदेश सोलर पंप योजना ऑनलाइन आवेदन / Uttar pradesh solar pump yojana

  1. लोगों को उत्तर प्रदेश सोलर पंप योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना चाहिए –
  2. फिर उत्तरा प्रदेश सोलर पंप योजना की तलाश करें
  3. लिंक आपके सामने आ ज्एगा फिर उसपर लिंक पर क्लिक करे
  4. लिंक खुलने के बाद अप्लिकेशन फॉर्म पर पूछी हुई जानकारी को भरे
  5. आख़िर माए सब्मिट बटन पर क्लिक करे

Uttar pradesh solar pump yojana has lot of benefits for that you have to read complete information about the Uttar pradesh solar pump yojana 2018.

Uttar pradesh solar pump yojana , Uttar pradesh solar pump yojana application form, Uttar pradesh solar pump yojana news

 

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The Top Ten in © 2018 Frontier Theme
RSS
Follow by Email
Facebook
Google+
http://thetoptenin.com/uttar-pradesh-solar-pump-yojana">
Twitter
YouTube
Pinterest
LinkedIn